नेहा कक्कड़ की जीवन परिचय | Neha Kakkar Biography In Hindi

दोस्तों आज इस ब्लॉग में मै बात करने जा रहा हु भारतीय म्यूजिक इंडस्ट्री के सबसे बेहतरीन सिंगर्स में से एक,अपनी सुरुली आवाज से पहचाने जाने वाली फेमस सिंगर नेहा कक्कड़ के बारे में क्योंकि अपने फेंश के बीच सेल्फी क्वीन के नाम से मशहुर है नेहा कक्कड़।

अपनी आवाज का जादू लाने वाली नेहा कक्कड़ ने बहुत सारे फिल्मो में इन्होने सुपरहिट फिल्मे दिए है। और इनकी लोकप्रियता का अंदाजा आप उनके फेंश फॉलोइंग से खुद बा खुद लगा सकते है। वही इन्सटाग्राम पर सबसे ज्यदा फ़ोलो की गई इंडियन सिंगर है।

जहा पर उन्हें 95 मिलियन से भी ज्यादा लोग इसे फोलो करते है वाही फेसबुक पेज पर करीब 14 मिलियन से ज्यदा लाइक्स है। हलाकि आज के समय में इतनी पॉपुलर हो चुकी नेहा कक्कड़ ने अपनी शुरुवत बहुत ही छोटे लेवल से किया है। यहाँ तक की शुरुवती समय में भजन और आरती गाते हुए भी देखा जा सकता है।

तो दोस्तों इस ब्लॉग में नेहा कक्कड़ की पूरी लाइफ स्टोरी जानते है की किस तरह से एक आम लड़की न केवल लोगो की बल्कि बड़े बड़े म्यूजिक डायरेक्टर की भी फेवरेट सिंगर बन चुकी है।

तो दोस्तों इस कहानी की शुरुवत होती है 6 जून 1988 से जब उतराखंड के ऋषिकेश में नेहा कक्कड़ का जन्म हुआ और इनके पिता का नाम ऋषिकेश कक्कड़ और मा का नाम नीती कक्कड़ है। साथ ही उसकी एक बहन सोनू कक्कड़ और एक भाई टोनी कक्कड़ भी है।

बचपन में ही नेहा अपनी परिवार के साथ दिल्ली में शिफ्ट हो गए और वहा उन्होंने बेव होली न्यू होली पब्लिक स्कूल से शुरुवती पढाई की। म्यूजिक से प्रेम उन्हें बचपन से ही प्यार हो गया था और सिर्फ़ वह चार साल की उम्र में भजन और आरती गना गाना भी शुरु जोर शोर से कर दिया था।

आगे चलकर जैसे जैसे उनकी उम्र बढ़ी वैसे वैसे उनकी आवाज में मिठास भी बढ़ी। और जब वो 11 साल में थी तब वो सिंगिंग रियलिटी शो इंडियन आइडल के सीजन 2 में भाग लिया। हलाकि इस शो को जितने में सफल नहीं रही और उस समय के विनर रहे थे संदीप आचार्य।

और दोस्तों जब हम संदीप आचार्य की बात कर ही ली है तो मै आपको बता दु की 15 दिसम्बर 2013 को जोंडिस की बीमारी की वजह से उनका निधन हो चूका था। और इंडियन आइडल ख़त्म होने के बाद से ही नेहा कक्कड़ को पहचानने लगे थे।

हलाकि उनके जीवन में अभी कोई सफलता नहीं आयी थी जिसके वो हक़दार थी। और धीरे धीरे समय बीतते गया और नेहा कक्कड़ अपनी गायिकी पर काम करती रही और फिर आगे चलाकर 2008 में उनकी मेहनत तब जाकर रंग लायी। जब उन्होंने स्लो एल्बम “नेहा दा रॉकस्टार” लंच किया।

जिससे की मिट ब्रोज ने कंपोज किया और यह एल्बम नेहा के टेलेंट को लोगो तक पहुचने में काफी हद तक कामयाब रहा और उनके गानों ने म्यूजिक डायरेक्टर्स को भी अपनी और आकर्षित किया। और 2008 में उन्होंने जो जीता वही सुपरस्टार रियालिटी शो चेल्लेंजर के तोर पर भाग लिया।

और आगे चलकर 2009 में उनके ब्लू फिल्म का थीम सोंग्स गाने का मोका मिला। साथ ही इसी साल “ना आना इस देश लाडो” के टीवी शो के लिए टाइटल ट्रैक भी जीत लिया और अभी तक नेहा कक्कड़ को मोके तो बहुत सारे मिल रहे थे लेकिन वह उनके काबिलियत के हीसाब से काफी कम थी।

हालाकि नेहा पोजिटिव सोच के साथ आगे बढ़ी और फिर सन 2011 में उन्होंने मीश पूजा के साथ कॉकटेल फिल्म के साथ “सेकंड हैण्ड जवानी” गाना गया और इस गाने की पॉपुलिरिटी भी नेहा के आवाज को लोगो में बसा दिया। और 2012 में उनका गया हुआ एस.आर.के एंथेम भी काफी मशहुर हो गया।

और फिर अगले साल 2013 में हनी सिंह के साथ भारतीय फिल्म में “ब्लू है पानी पानी” गना गया। जो की नेहा कक्कड़ की करियर का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ और फिर यहाँ से वो कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा देखा।

और 2013 में ही आया क्वीन फिल्म का “लन्दन ठुमका गाना” भी काफी लोकप्रिय हुआ और फिर इस गाने की लोकप्रियता ने एक बार फिर से साबित कर दिया की नेहा म्यूजिक इंडस्ट्री में आगे और धमाका मचने वाली है। और 2014 में नेहा ने अक्षय की फिल्म गब्बर इज बेक में “आवो राजा” गना गया,और दोस्तों इसके आलावा भी इन्होने बहुत सारे गाने गए है।

जरूर पढ़ें: नाना पाटेकर की जीवनी

और बार बार देखो फिल्म में “काला चश्मा” यह गाना इतना पॉपुलर हुआ की इसे यूटूयूब पर अब तक करीब 390 मिलियन लोगो ने देख चुके है। और साथ ही फीवर फिल्म “मिले हो तुम हमको” जो की 390 मिलियन लोगो ने देख चुके है।

और साथ में 2014 में नेहा कक्कड़ सिंगिंग रियालिटी शो सा रे गा मा पा में भी जज का रोल निभा चूकी है। जो की दोस्तों आज नेहा कक्कड़ जो भी है अपने दम पर है उन्होंने एक मिडील क्लास फैमिली से ही जाने मने सेलीब्रेटी बनने तक का रास्ता बखूबी तय किया। उम्मीद करता हु की दोस्तों ये स्टोरी नेहा कक्कड़ की जरुर पसंद आई होगी तो आप अपने दोस्तों से शेयर जरुर करे।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने