यो यो हनी सिंह का जीवन परिचय | Yo Yo Honey Singh Biography In Hindi

दोस्तों बॉलीवुड के मशहूर रेपर यो यो हनी सिंह इंडस्ट्री के उन चुनिन्दा में शामिल है जिनके गानों के बगेर हर शादी और पार्टी अधूरी सी लगती है। और उनके गानों के बोल ही कुछ ऐसे होते है जिससे हमारे पैर आपने आप थिरकने लगते है आप के समय में लोग हर गाने के दीवाने है।

और यही वजह है उनका यह गाना रिलीज होने के बाद से ही टॉप पर पहुच गया है। लेकिन दोस्तों बहुत ही कम लोगो को पता होगा की भारत के मशहूर प्रोड्यूसर,सिंगर,रेपर और फिल्म एक्टर। यो यो हनी सिंह का असल नाम हिर्देश सिंह है और भले ही आपने करियर की शुरुवत में पंजाबी इंडस्ट्री से ही की थी।

लेकिन वहा आज के समय में पुरे बॉलीवुड में लोकप्रिय है और भारतीय संगीत में रेप के जरिये रिभुलेसन लाने का श्रेय हनी सिंह को ही जाता है। साथ ही वाह आज के समय बॉलीवुड के हाईएस्ट पेड म्यूजिक प्रोडूसर है।

हलाकि दोस्तों इस मुकाम को हासिल करने के लिए हनी सिंह को काफी कड़ी मेहनत करनी पड़ी। और इस तरह पंजाब के छोटे शहर में जन्म लिया। यह लड़का पूरी दुनिया में आपना संगीत से राज कर रहा है।चलिए जानते है की इस कहानी की शुरुवत होती है 15 मार्च 1983 को जब पंजाब के होशियारपुर परिवार में जब हनी सिंह का जन्म हुआ। इनके पिता का नाम सरदार सरबजीत सिंह और मा का नाम भूपिंदर कौर है। 

और आगे चलकर जब हनी सिंह छोटे थे,वो तब उनका परिवार होशियारपुर से दिल्ली रहने चला गया। इसी को ही बचपन से ही म्यूजिक का बहुत ज्यदा पसंद था इसलिए वह आपनी स्कूल की सिंगिंग कॉम्पिटीसन में अक्सर भाग लिया करते थे। और स्कूल के समय में उन्होंने मन बना लिया था की उन्होंने संगीत की दुनिया में ही जाना है।

और आपनी शुरुआती पढाई ख़त्म करने के बाद वो यू.के चले गए,और यहाँ पर इन्होने ट्रिनिटी कॉलेज से म्यूजिक की पढाई की। और म्यूजिक की हर बारीकियो को सिखा,जो की आगे चलकर उन्हें फेमस बनाने वाली थी। और यू.के में ही रहते हुए हिर्देश सिंह ने आपना नाम यो यो हनी सिंह कर दिया और इसका मतलब होता है आपका आपना हनी सिंह।

यू.के से आपनी पढाई पूरी करने के बाद हनी सिंह वापस इंडिया आये और अब वो म्यूजिक के छेत्र में कदम रखने के लिए पूरी तरह से तेयार थे। हलाकि की इससे पहले वे खुद का एल्बम बनाते उन्होंने दुसरे आर्टिस्ट के लिए कई बार म्यूजिक कंपोज़ किया। साथ ही कई सिंगर्स के गाने के अन्दर रेप का तड़का भी डाला।

उन्होंने पहली बार 2005 में बील सिंह के साथ पेसी गाने में म्यूजिक प्रोड्यूसर के तोर पर काम किया। और फिर इसके बाद ज्यादातर गाने में राज करते हुए दिखय दिए।

हनी सिंह का 2006 में अशोक मस्ती के आये “ग्लाशी” के लिए उन्हें इ.टी.सी फॉर बेस्ट साउंड मिला। और इस तरह से धीरे धीरे आपने यूथ में पहचान बनाते जा रहे थे। और फिर आगे चलकर रिबर्थ,दा नेस्ट लेवल,लोकडाउन  आप और दा बिगनिंग जैसे एल्बम आने के बाद हनी सिंह पुरे देश में लोकप्रिय हो गए।

हलाकि हनी सिंह को सबसे बड़ी कामयाबी 2011 में जब उनका एल्बम “इंटरनेशनल भिलेजर्स” रिलीज किया गया और यह एल्बम बहुत ही बड़ी हिट साबित हुई। इसने न केवल भारत में बल्कि पुरे दिनिया में धूम मचा दी और यही से यूथ के जुबान पर हनी सिंह का नाम लड़ता रहा।

इनके गाने हर फन्शन और हर पार्टी में सुनने को मिल रहे थे साथ ही इस एल्बम का गाना हाई हिल्स और ब्राउन रंग एक साथ यूट्यूब के ट्रेंडिंग पेज पर था। 2011 में ही “शकल पर मत जावो” से हनी सिंह ने बॉलीवुड पर भी एंट्री ली। और 2012 में कॉकटेल,खिलाडी 786,रेस 2 और सन ऑफ़ सरदार में गाना देने के बाद हनी सिंह की फैन फोल्लोविंग हिंदी गाने को पसंद करने बाले लोग कई गुना बढ़ गए।

हलाकि इस साल आपनी लिरिक्स की वजह से विवादों में भी रहे और 6 महीने तक दिल्ली के कोट में केस भी चला। लेकिन उसे भी बहुत ही आसानी से हनी सिंह जीतकर बहार आ गए। और फिर 2014 तक हनी सिंह एक के बाद एक सुपरहिट गाना देते रहे और लोगो की दिलो पर राज करते रहे।

जरूर पढ़ें: उदित नारायण का जीवन परिचय

लिकिन 2015 में इक्का दुक्का गाना आने के बाद वह अचानक 18 महीने के लिए गायब हो गए। और दोस्तों हनी सिंह जब इंडस्ट्री से गायब हो गए तब वह करियर के शिखर पर थे। और उनके इंडस्ट्री के जाने के वजह से बाईपोलर डिसआर्डर नाम की एक बीमारी थी जिसके वजह से आदमी डिप्रेसन में चला जाता है।

लेकिन 18 महीनो के बाद 2016 में हनी सिंह ने वापसी तो जरुर की लेकिन कुछ समय बाद वह दुबारा से गायब हो गए। लेकिन एक बार फिर से 2018 में “सोनू की टीटू की स्वीटी” फिल्म में जबरदस्त गाने देकर उन्होंने वापसी का संदेश फेंस तक पहुचाया।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने